अश्क़ शायरी

रुख पर निगाह…

अपने रुख पर निगाह करने दो
खूबसूरत गुनाह करने दो,
रुख से पर्दा हटाओ ऐ जाने-हया
आज दिल को तबाह करने दो।

Share
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *